शनिवार नौ बैग डे (Saturday-No Bag day)-

मा. मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने अपने कार्यकाल के दूसरे बजट पेश करते हुए सभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को नौ बैग डे धोषित किया ताकि स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को पढाई का बोझ कुछ हद तक कम किया जा सके। कोरोना काल के कारण विद्यालय तो खोले गए है किन्तु राज्य सरकार के आदेशों की पालना में छात्र छात्रा विद्यालय नहीं आएगे। कोरोना काल की समाप्ति पश्चात् या जब भी सरकार द्वारा विद्यार्थियों की उपस्थिति हेतु दिशा-निर्देश जारी किये जाएगे तब प्रत्येक शनिवार को नो बैग डे की योजना को अमल में लाया जाएगा।

शनिवार नौ बैग डे (Saturday-No Bag day) को संस्था प्रधान एव स्टॉफ का ये कार्य रहेगा कि विद्यालय समय में विद्यार्थियों को विभिन्न सहशैक्षिक गतिविधियों में व्यस्त रख all round development (सर्वागीण विकास) करने का दायित्व होगा। ऐसे में करवाई जाने वाली गतिविधियां निम्न प्रकार से हो सकती है-

1.पूरे विद्यालय को विभिन्न सदनों में बांटकर सदन वार प्रतियोगिता करवाना।

 2.देशभक्ति गीत, संगीत क्वीज निबन्ध प्रतियोगिता, आशुभाषण, काव्य पाठन नृत्य गायन इत्यादि कार्य करवाना।

3.खेलकूद को बढावा देने हेतु खो-खो, चैस, बैंडमिंडन, वॉलीवाल, बास्केटबॉल, कब्बड़ी इत्यादि भी प्रतियोगिता करवायी जा सकती है।

 4.स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मस्तिष्क निवास करता है इस हेतु योगाभ्यास करवाया जा सकता है। 

5.कक्षा में कक्षाध्यापकों/विषयाध्यापकों द्वारा मौखिक गतिविधियां जैसे कविताएं कहानियां स्पेलिंग पूछना, पहेलिया करवाई जा सकती है।

6.नो बैग डे के दिन बच्चों से श्रमदान करवाया जा सकता है जिससे उनमें मेंहनत या काम करने की भावना जागृत हो।

7 वृद्वाश्रमों में सेवा के कार्य भी करवाये जा सकते है। वैज्ञानिकों पर फिल्म दिखाकर प्रेरित किया जा सकता है।

8.स्वंतत्रता सेनानी, सुधारक एंव महान वैज्ञानिकों पर फिल्म दिखाकर प्रेरित किया जा सकता है।

error: